कंप्यूटर का वर्गीकरण (Classification of Computer) – 4

Classification of Computer, Desktop-PC

Table of Contents

कंप्यूटर का वर्गीकरण (Classification of Computer)

कंप्यूटर का वर्गीकरण (Classification of Computer) :-

  1. आकार एवं कार्य के आधार पर कंप्यूटर
  2. डाटा हैंडलिंग के आधार पर कंप्यूटर
  3. अभिप्राय के आधार पर कंप्यूटर

आकार एवं कार्य के आधार पर कंप्यूटर (Computers on the Basis of Size and Function)

  1. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers)
  2. मिनी कंप्यूटर (Mini Computers)
  3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers)
  4. सुपर कंप्यूटर (Super Computers)

1. माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers)

microprocessor, Classification of Computer
Classification of Computer microprocessor
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) को पर्सनल कंप्यूटर भी कहते हैं।
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) छोटे, कम खर्चीले तथा व्यक्तिगत रूप में प्रयोग होते हैं।
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) का निर्माण माइक्रोप्रोसेसर तकनीक से हुआ है।
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) में विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम एवं मेकिन्टोश ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रयोग होता है।
  • प्रथम माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computer) सन् 1981 में IBM द्वारा बनाया गया।
  • उपयोग :- एकाउंटिंग, वर्ड प्रोसेसिंग, डेस्कटॉप पब्लिसिंग, डाटा बेस मैनेजमेंट सिस्टम आदि।
  • माइक्रो कंप्यूटर (Micro Computers) निम्नलिखित प्रकार के होते हैं :-

(i). डेस्कटॉप पी० सी० (Desktop PC)

(ii). नोटबुक कंप्यूटर या लैपटॉप (Notebook Computer or Laptop)

(iii). पॉमटॉप (Palmtop)

(iv). वर्कस्टेशन (Workstation)

(v). नेटवर्क कंप्यूटर (Network Computer)

(i). डेस्कटॉप पी० सी० (Desktop PC)

  • Desktop PC छोटे आकार के सामान्य कार्य के लिए होते हैं।
  • Desktop PC में एक बार में एक ही व्यक्ति काम कर सकता है।
  • Desktop PC कई प्रकार के कार्य करने की क्षमता रखते हैं।
  • Desktop PC को टेलीफ़ोन और मोडेम की सहायता से इंटरनेट से जोड़ सकते है।
  • Desktop PC में माइक्रो प्रोसेसर – 8088 का प्रयोग होता हैं। जिसका विकास सन् 1981 में हुआ।
  • Desktop PC में क्षमता बढ़ाने के लिए हार्डडिस्क ड्राइव लगाई गई। बाद में इसका नाम PC XT – Personal Computer Extended Technology हो गया।
  • सन् 1984 में Desktop PC में माइक्रो प्रोसेसर का प्रयोग हुआ और PC का नाम PC AT – Personal Computer Advanced Technology हो गया।

(ii). नोटबुक कंप्यूटर या लैपटॉप (Notebook Computer or Laptop)

  • नोटबुक कंप्यूटर या लैपटॉप (Notebook Computer or Laptop) का आविष्कार सन् 1981 में एडम असबर्न ने किया।
  • नोटबुक कंप्यूटर या लैपटॉप (Notebook Computer or Laptop) में Desktop PC की सभी खूबियाँ होती हैं।
  • नोटबुक कंप्यूटर या लैपटॉप (Notebook Computer or Laptop) को सूटकेस में रखकर कही भी ले जाया जा सकता है।
  • गोद में रखकर उपयोग करने के कारण इन PC को Laptop कहते हैं।

(iii). पॉमटॉप (Palmtop)

  • पॉमटॉप (Palmtop) छोटी स्क्रीन और छोटे कीबोर्ड का होता है।
  • पॉमटॉप (Palmtop) का प्रयोग सूची बनाने, नोट्स करने और अपॉइंटमेंट लेने में होता है।
  • पॉमटॉप (Palmtop) में आवाज द्वारा एवं इलेक्ट्रॉनिक पेन द्वारा लिखा जा सकता है।

(iv). वर्कस्टेशन (Workstation)

  • वर्कस्टेशन कंप्यूटर (Workstation Computer) एक व्यक्ति के लिए होता है और PC के सारे गुण इसमें होते हैं।
  • वर्कस्टेशन कंप्यूटर (Workstation Computer) में बड़ी स्क्रीन, अधिक बड़ी RAM एवं उच्च क्षमता का GUI होता है।
  • वर्कस्टेशन कंप्यूटर (Workstation Computer) में ऑपरेटिंग सिस्टम UNIX एवं Windows NT का प्रयोग होता है।

(v). नेटवर्क कंप्यूटर (Network Computer)

  • नेटवर्क कंप्यूटर (Network Computer) में प्रोसेसिंग क्षमता, मेमोरी, स्टोरेज क्षमता, आदि डेस्कटॉप से कम होती है।
  • नेटवर्क कंप्यूटर (Network Computer) की संरचना ऐसी होती है जिससे इंटरनेट या इंटरनेट के डाटा तक पहुँचना आसान होता हैं।
  • नेटवर्क कंप्यूटर (Network Computer) का उपयोग इंटरनेट से जुड़कर घरों में वेब टी०वी० के रूप में हो सकता है।

2. मिनी कंप्यूटर (Mini Computers)

  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computers) में माध्यम आकार का मल्टीप्रोसेसिंग सिस्टम लगा होता है।
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computers) की क्षमता माइक्रोकंप्यूटर से अधिक होती है।
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computers) का आकार बहुत छोटा होता है।
  • मिनी कंप्यूटर (Mini Computers) का उपयोग – शिक्षा, अस्पताल, व्यवसाय एवं सरकारी संस्थाओं आदि।

3. मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers)

Classification of Computer, Mainframe Computer
Classification of Computer
Mainframe Computers
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) की क्षमता माइक्रो कंप्यूटर तथा मिनी कंप्यूटर से अधिक होती है।
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) पर सैकड़ों लोग एक साथ काम कर सकते हैं।
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) में एक साथ बहुत सारे प्रोग्राम चलाने की क्षमता होती है।
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) की स्टोरेज डिस्क बहुत अधिक बड़ी होती है, जिसमें टेराबाइट डाटा रखा जा सकता है।
  • मेनफ्रेम कंप्यूटर (Mainframe Computers) की Main Memory की स्पीड मेगाबाइट/सेकेण्ड होती है।

4. सुपर कंप्यूटर (Super Computers)

  • जिस कंप्यूटर की कार्य क्षमता 500 मेगाफ्लॉप्स से अधिक हो वह सुपर कंप्यूटर (Super Computer) होता है।
  • वर्तमान में सबसे तेज सुपर कंप्यूटर फ्रंटियर है।
  • सुपर कंप्यूटर एवं उसकी विशिष्ताटएँ (Super Computer and its Characteristics)
क्रम संख्याविशिष्टताएँतथ्य
1प्रोसेसिंग क्षमतातीव्र
2भण्डारण क्षमताविशाल
3प्रोसेसिंग क्रमसमानांतर
4उपयोगकर्तामल्टी प्रोसेसिंग
5प्रोसेसरों की संख्याअनगिनत
6प्रोसेसिंग स्पीडफ्लॉप्स (Flops-Floating Operations Per Second)
7जन्मदाताSeymour Cray
Super Computer and its Characteristics

विश्व के सबसे तेज कंप्यूटर :-

वर्षसुपर कंप्यूटर उच्चगतिदेश
2022ओक रिज्ज फ्रंटियर1.1 EFLOPSUSA
2022फुगाकु4442 PFLOPSJAPAN
2018सम्मिट148.6 PFLOPSUSA
2016सनवे टेहुलाइट93.014 PFLOPSCHINA
2013NUDT-तियान्हे33.86 PFLOPSCHINA
2012क्रे-टाइटन17.59 PFLOPSUSA
2012IBM सेकोया (Sequoia)17.17 PFLOPSUSA
2011फुजित्सु के कंप्यूटर10.51 PFLOPSUSA
2009क्रे जेगुआर1.759 PFLOPSUSA
2008रोड रनर (IBM)1.026 PFLOPSUSA
विश्व के सबसे तेज कंप्यूटर

कुछ महत्त्वपूर्ण भारत के सुपर कंप्यूटर एवं उनकी गति :-

क्रम संख्यासुपर कंप्यूटरआविष्कारकगतिउपयोग
1परम सिद्ध-AIC-DAC, Pune5.267 PFLOPSखगोलिक एवं रसायन गणना में, चिकित्सीय क्षेत्रों में, बाढ़ नियंत्रण में
2प्रत्युषIndian Institute of Tropical Meterology, Pune4.0062 PFLOPSमौसम पूर्वानुमान
3मिहिरNational Centre for Medium Range Forelasting, Noida2.808 PFLOPSमौसम संबंधी जानकारी देना
4पृथ्वीIndian Institute of Tropical Meterology, Pune790.7 TFLOPSमौसम अनुसंधान में उपयोगी
5परम युवा-IIC-DAC, Pune524 TFLOPSअंतरिक्ष अनुसंधान, मौसम पूर्वानुमान, भूकंपीय तरंग अनुसंधान
6सागा-220ISRO220 TFLOPSउपग्रह-प्रक्षेपण
7एकाComputational Research Laboratories132 TFLOPSवैज्ञानिक अनुसंधान
8विरगोIIT Madras91.1 TFLOPSसबसे तेज सुपर कंप्यूटिंग सुविधा
9परम युवाC-DAC54 TFLOPSवैज्ञानिक अनुसंधान, मौसम पूर्वानुमान
कुछ महत्त्वपूर्ण भारत के सुपर कंप्यूटर एवं उनकी गति

भारत में सुपर कंप्यूटर का विकास (Development of Super Computer in India) :-

  • भारत में सुपर कंप्यूटर के विकास में अग्रणी संस्था C-DAC है।
  • भारत का प्रथम सुपर कंप्यूटर परम-8000 था।
  • वर्तमान में सुपर कंप्यूटर का उपयोग – एनीमेटेड ग्राफिक्स, मौसम पूर्वानुमान, जैनेटिक इंजीनियरिंग, परमाणु अनुसंधान
  • सुपर कंप्यूटर का निर्माण – DRDO पेस श्रृंखला तथा BARC अनुपम श्रृंखला कर रही हैं।

भारत के कुछ प्रमुख सुपर कंप्यूटर :-

क्रम संख्यासुपर कंप्यूटरनिर्माता
1PARAM-8000C-DAC
2PRATUSH (CRAY-XC40)Indian Institute of Tropical Meterology
3MIHIR (CRAY-XC40)National Centre for Medium Range Weather Forecasting
4SERC (CRAY-CX40)Indian Institute of Science
भारत के कुछ प्रमुख सुपर कंप्यूटर
  • वर्तमान में भारत का सबसे तेज सुपर कंप्यूटर परम सिद्धि AI है।

डाटा हैंडलिंग के आधार पर कंप्यूटर (Computer Based on Data Handling)

  1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer)
  2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer)
  3. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer)

1. एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer)

  • एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) भौतिक मात्राओं जैसे – दाब, ताप, लम्बाई, पारे की ऊँचाई आदि को मापकर उनके परिणाम को अंको में व्यक्त करता है।
  • एनालॉग कंप्यूटर (Analog Computer) का उपयोग – विज्ञान एवं इंजीनियरिंग गणना के क्षेत्र में

2. डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer)

  • डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer) का उपयोग अंकों की गणना करने के लिया किया जाता था।
  • वर्तमान में सभी कंप्यूटर, डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer) हैं।
  • डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer) इनपुट डाटा और प्रोग्राम्स को 0 और 1 में परिवर्तित करके इन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में प्रस्तुत करता है।
  • डिजिटल कंप्यूटर (Digital Computer) का उपयोग – व्यापार में, घर के बजट में, एनिमेशन के क्षेत्र में

3. हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer)

  • हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer) में एनालॉग तथा डिजिटल दोनों कंप्यूटरों के गुण होते हैं।
  • हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer) भौतिक मात्राओं को अंकों में परिवर्तित करके उसे डिजिटल रूप में लाता हैं।
  • हाइब्रिड कंप्यूटर (Hybrid Computer) का उपयोग – सर्वाधिक उपयोग चिकित्सा के क्षेत्र में

अभिप्राय के आधार पर कंप्यूटर (Purpose Based Computer)

  1. साधारण अभिप्राय कंप्यूटर (General Purpose Computer)
  2. विशिष्ट अभिप्राय कंप्यूटर (Specific Purpose Computer)

1. साधारण अभिप्राय कंप्यूटर (General Purpose Computer)

  • साधारण अभिप्राय कंप्यूटर (General Purpose Computer) का प्रयोग साधारण कामों के लिए किया जाता है।
  • साधारण अभिप्राय कंप्यूटर (General Purpose Computer) का उपयोग स्कूलों एवं घरों में किया जाता है।

2. विशिष्ट अभिप्राय कंप्यूटर (Specific Purpose Computer)

  • विशिष्ट अभिप्राय कंप्यूटर (Specific Purpose Computer) किसी विशिष्ट कार्य के लिए बने होते हैं।
  • विशिष्ट अभिप्राय कंप्यूटर (Specific Purpose Computer) का उपयोग – वायु – यातायात, आरक्षण, उपग्रह खोज, ट्रेफिक नियंत्रणआदि में होता है।

Question and Answer
Question and Answer

आपका स्वागत है अपने  कंप्यूटर का वर्गीकरण (Classification of Computer) टेस्ट में ।अपने आप को आजमाइए :-

कुल प्रश्न :- 50, प्रत्येक प्रश्न :- 2 अंक

यदि 50 या अधिक नंबर आये तो PASS नहीं तो FAIL

Enter Your Full Name
Enter Your Email ID

1 Comment.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *