Development Of Computer (कंप्यूटर का विकास) – 2

Abacus, Development Of Computer, एबैकस

Table of Contents

Development Of Computer (कंप्यूटर का विकास)

वैसे तो कंप्यूटर का विकास (Development Of Computer) 3000 वर्ष पुराना है । आधुनिक कंप्यूटर (Computer) मुश्किल से 50 वर्ष पुराना है । आधुनिक कंप्यूटर का विकास (Development Of Computer) युग लगभग सन् 1964 में आया । कंप्यूटर का विकास (Development Of Computer) निम्नलिखित भागों में विभाजित हैं :-

यांत्रिक युग (Mechanical Era)

  • इन मशीनों में केवल जोड़, घटाना, गुणा व भाग होता है ।
  • इन मशीनों में कोई विशिष्ट प्रोग्राम शामिल नहीं है ।

यह मशीनें निम्नलिखित हैं :-

एबैकस (Abacus)

एबैकस (Abacus) का आविष्कार चीन के ली काई चैन ने किया है ।

एबैकस Abacus 1
एबैकस (Abacus)

गुण (Property) :-

  • एबैकस (Abacus) लकड़ी का एक आयताकार ढाँचा होता है ।
  • एबैकस (Abacus) में तारों का एक फ्रेम लगा होता है, जिसमें मनके के दाने होते है गणना के लिए ।
  • एबैकस (Abacus) में क्षैतिज रॉड – इकाई, दहाई एवं सैकड़ा को दर्शाता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • एबैकस (Abacus) गणना कार्यों को सरल करता है ।
  • एबैकस (Abacus) वर्गमूल भी सरलता से हल करता है ।

नैपियर बोन्स (Napier’s Bones)

नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) का आविष्कार सन् 1617 में स्कॉटलैंड के गणितज्ञ जॉन नेपियर ने किया था ।

नैपियर बोन्स Napiers Bones
नैपियर बोन्स (Napier’s Bones)

गुण (Property) :-

  • नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) में दस पट्टियाँ होती है ।
  • नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) त्रिविमीय होता है । जिस पर 0 से 9 तक पहाड़े लिखे होते है ।

उपयोग (Uses) :-

  • नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) में गणना आयताकार पट्टियों पर की जाती है । इस तकनीक को रॉब्डोलोजिया (Rhabdology) कहते हैं ।
  • नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) से गणना अति तीव्र गति से होती है ।
  • नैपियर बोन्स (Napier’s Bones) से गुणा भी अति तीव्र गति से होती है ।

स्लाइड रूल (Slide Rule)

स्लाइड रूल (Slide Rule) का आविष्कार जर्मनी के गणितज्ञ विलियम ऑटरेड (William Oughtred) ने किया था ।

स्लाइड रूल (Slide Rule) एक यांत्रिक एनालॉग (Analog) कंप्यूटर है ।

स्लाइड रूल Slide Rule
स्लाइड रूल (Slide Rule)

गुण (Property) :-

  • स्लाइड रूल (Slide Rule) में दो विशेष प्रकार की चिन्हित पट्टियाँ होती हैं जिन्हें आगे पीछे सरकाया जा सकता है ।
  • स्लाइड रूल (Slide Rule) के तीन भाग होते हैं :-

(i) फ्रेम या आधार

(ii) स्लाइड

(iii) रनर , जिसमें कर्सर लगा होता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • स्लाइड रूल (Slide Rule) में दो पट्टियों को बराबर में रखकर लघुगणक विधि के आधार पर गणनाएँ की जाती हैं ।
  • स्लाइड रूल (Slide Rule) में स्केल पर 1 से 10 तक संख्याएँ होती हैं जो गणनाएँ 10n से 10n+1 के आधार पर गुणनफल , शेषफल एवं अन्य परिणाम में सहायता करता है ।
  • स्लाइड रूल (Slide Rule) का प्रयोग सैकड़ों वर्षों तक वैज्ञानिक गणनाओं में किया गया ।
  • 20 वीं शताब्दी में इलेक्ट्रॉनिक पैकेट कैलकुलेटर अस्तित्व में आने पर स्लाइड रूल (Slide Rule) का प्रयोग बंद हो गया ।

पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator)

पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator) का आविष्कार सन् 1642 – 1644 में फ्रांस के गणितज्ञ एवं दार्शनिक ब्लेज पास्कल ने किया था ।

पास्कल का गणना यंत्र Pascals Calculator
पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator)

गुण (Property) :-

  • पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator) में कई दाँतेदार काउंटर व्हील्स लगे होते है । चक्र पुराने फ़ोन की तरह घुमाने वाले होते हैं जिन पर 0 से 9 तक की संख्याएँ अंकित होती हैं ।
  • पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator) ओडोमीटर एवं घड़ी के सिद्धांत पर कार्य करता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator) जोड़ एवं घटाना स्वत: संपन्न करता है ।
  • पास्कल का गणना यंत्र (Pascal’s Calculator) द्रव्य के दबाब के सिद्धांत (Principle of Pressure of Liquid) के आधार पर कार्य करता है ।

लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz)

लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) का आविष्कार सन् 1673 में जर्मन के गणितज्ञ लेबनिज ने किया था ।

Mechanical Calculator of Leibnitz
Mechanical Calculator of Leibnitz

गुण (Property) :-

  • लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) स्टेप्ड गियर मैकेनिज्म पर आधारित है ।
  • लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) को लीबनिज व्हील कहा जाता है ।
  • लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) को रेकनिंग मशीन भी कहा जाता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) द्वारा जोड़ व घटाना के साथ – साथ गुणा व भाग करना भी आसान होता है ।
  • लेबनिज का यांत्रिक कैलकुलेटर (Mechanical Calculator of Leibnitz) का वर्तमान में भी कार व स्कूटर के स्पीडोमीटर में उपयोग किया जाता है ।

चार्ल्स बैबेज का डिफरेन्स इंजन (Charle’s Babages Difference Engine)

चार्ल्स बैबेज का डिफरेन्स इंजन (Charle’s Babages Difference Engine) का आविष्कार सन् 1822 में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय के गणितज्ञ प्रो० चार्ल्स बैबेज ने किया था ।

गुण (Property) :-

  • डिफरेन्स इंजन (Difference Engine) में शाफ़्ट तथा गियर का प्रयोग होता है ।
  • डिफरेन्स इंजन (Difference Engine) भाप से चलती है ।

उपयोग (Uses) :-

  • डिफरेन्स इंजन (Difference Engine) के प्रयोग द्वारा विभिन्न बीजगणितीय फलनों का मान दशमलव के 20 स्थानों तक शुद्धतापूर्वक ज्ञात किया जा सकता है ।

बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine)

बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine) का आविष्कार सन् 1834 में चार्ल्स बैबेज ने किया था ।

बैबेज का एनालिटिकल इंजन Babbages Analytical Engine
बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine)

गुण (Property) :-

  • बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine) आधुनिक युग में प्रयुक्त हो रहे कंप्यूटरों से बहुत अधिक समानता रखता है ।
  • बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine) के मुख्यतः पाँच भाग हैं –
  1. इनपुट इकाई – आँकड़ों को ग्रहण करने के लिए ।
  2. स्टोर – आँकड़ों और निर्देशों को संग्रहीत करने के लिए उपयोगी ।
  3. मिल – अंकगणितीय क्रियाएँ आसान करना ।
  4. कण्ट्रोल – स्टोर तथा मिल में संख्याओं के आवागमन के लिए उपयोगी ।
  5. आउटपुट इकाई – परिणाम प्राप्त करने के लिए ।

उपयोग (Uses) :-

  • बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine) आधुनिक कंप्यूटर का आदि प्रारूप है जो प्रोग्रामिंग के भी लायक था ।
  • बैबेज का एनालिटिकल इंजन (Babbage’s Analytical Engine) द्वारा क्रियाओं के क्रम को बदलने की भी तकनीक थी ।

जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom)

जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom) का आविष्कार 18 वीं शताब्दी में फ़्रांस के टेक्सटाइल वैज्ञानिकों ने किया था ।

जेकॉर्ड्स लूम Jacquards Loom
जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom)

गुण (Property) :-

  • जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom) कपड़ा बुनने का लूम था ।
  • जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom) में छिद्र युक्त पंचकार्डों का प्रयोग होता था ।
  • जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom) में सूचना एवं निर्देशों को कोडित किया जाता था । जो प्रोग्राम के रूप में काम करती थी ।

उपयोग (Uses) :-

जेकॉर्ड्स लूम (Jacquard’s Loom) कपड़ों का स्वत: ही डिज़ाइन तथा पैटर्न बना देता था ।

होलेरिथ सेन्स टेबुलेटर (Hollerith Census Tabulator)

होलेरिथ सेन्स टेबुलेटर (Hollerith Census Tabulator) का आविष्कार अमेरिका के वैज्ञानिक डॉ० हर्मन होलेरिथ ने किया था ।

गुण (Property) :-

  • इस मशीन में विद्युत द्वारा पंचकार्डों को संचालित किया जाता था ।

उपयोग (Uses) :-

  • जनगणना के लिए होलेरिथ सेन्स टेबुलेटर (Hollerith Census Tabulator) को बनाया गया था ।
  • होलेरिथ ने पंच कार्डों के उत्पादन के लिए 1896 में “टेबुलेटिंग मशीन कंपनी” की स्थापना की ।
  • सन् 1911 में एक और कंपनी के विलय के बाद होलेरिथ सेन्स टेबुलेटर (Hollerith Census Tabulator) का नाम कंप्यूटर टेबुलेटिंग रिकॉर्डिंग कंपनी रखा गया ।
  • सन् 1924 में इस कंपनी का नाम इंटरनेशनल बिजनेस मशीन (IBM) रखा गया ।

विद्युत यांत्रिक युग (Electro Machanical Era)

मार्क – I (Mark – I)

सन् 1944 में मार्क – I (Mark – I) का निर्माण एकेन ने IBM कंपनी के सहयोग से किया था ।

मार्क I Mark I
OLYMPUS DIGITAL CAMERA

गुण (Property) :-

  • मार्क – I (Mark – I) में मुख्य स्मृति के लिए डेसीमल काउंटर व्हील का इस्तेमाल हुआ था ।
  • मार्क – I (Mark – I) में प्रोग्रामिंग के लिए पंचकार्ड का इस्तेमाल हुआ था जिसमें उस समय 72 शब्दों तथा 23 अंकों की स्मृति क्षमता थी ।

उपयोग (Uses) :-

  • मार्क – I (Mark – I) का उपयोग द्वितीय विश्वयुद्ध में हुआ था ।

इलेक्ट्रॉनिक युग (Electronic Era)

इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कैलकुलेटर (Electronic Numerical Integrator and Calculator) – ENIAC

सन् 1945 में जॉन एम० मॉचली एवं जे० प्रेस्पर ऐकर्ट के निर्देशन में इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कैलकुलेटर (Electronic Numerical Integrator and Calculator) का निर्माण पेन्सिल्वेनिया यूनिवर्सिटी में हुआ था ।

ENIAC

गुण (Property) :-

  • ENIAC में क्रियाओं के लिए बाइनरी संख्याओं की जगह डेसीमल संख्याओं का प्रयोग किया गया था ।
  • ENIAC में लगभग 18000 वैक्यूम ट्यूब (Vacuum Tube) लगे थे । ये वैक्यूम ट्यूब 200 माइक्रोसेकेण्ड में जोड़ तथा 3 मिलीसेकेण्ड में घटाना कर सकता था ।
  • ENIAC में प्रोग्राम तथा डाटा को अलग – अलग मेमोरी में रखा जाता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • ENIAC दुनिया का पहला इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर था जिसका सामान्य उपयोग कर सकते थे ।
  • ENIAC का मौसम के पूर्वामानों एवं वैज्ञानिक प्रयोजनों में प्रयोग होता था ।

इलेक्ट्रॉनिक डिस्क्रीट वैरिएबल ऑटोमैटिक कंप्यूटर (Electronic Descrete Variable Automatic Computer) – EDVAC

इलेक्ट्रॉनिक डिस्क्रीट वैरिएबल ऑटोमैटिक कंप्यूटर (Electronic Descrete Variable Automatic Computer) का आविष्कार वॉन न्यूमैन (Von Neuman) के निर्देशन में पहली बार स्टोर्ड प्रोग्राम कंसेप्ट के आधार पर किया गया ।

EDVAC
EDVAC Computer

गुण (Property) :-

  • EDVAC से संक्रियाओं में बाइनरी संख्या से लॉजिक सर्किट द्वारा गणना की जाती है ।
  • EDVAC में वृहत मुख्य स्मृति (Memory) के लिए मरक्यूरी डिले लाइन का प्रयोग होता है ।
  • EDVAC में द्वितीयक स्मृति में धीमी मैग्नेटिक वायर मेमोरी का प्रयोग होता है ।
  • EDVAC में मुख्य मेमोरी तक पहुचने के लिए बिट का प्रयोग होता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • EDVAC का प्रयोग जटिल वैज्ञानिक गणनाओं में किया जाता है ।

यूनिवर्सल ऑटोमैटिक कंप्यूटर (Universal Autometic Computer) – UNIVAC

यूनिवर्सल ऑटोमैटिक कंप्यूटर (Universal Autometic Computer) – UNIVAC का आविष्कार सन् 1951 में एकर्ट एवं जे० डब्ल्यू मॉचले द्वारा किया गया था ।

UNIVAC
UNIVAC

गुण (Property) :-

  • UNIVAC पहला इनपुट एवं आउटपुट डाटा का ज्यादा मात्रा में प्रयोग होने वाला इलेक्ट्रॉनिक कंप्यूटर था ।
  • UNIVAC अंकगणितीय एवं भाषायी डाटा की संक्रियाओं पर आधारित सूचनाएँ प्रदर्शित करता है ।

उपयोग (Uses) :-

  • UNIVAC में इनपुट एवं आउटपुट के लिए मैग्नेटिक टेप का प्रयोग होता है ।

प्रारंभिक कंप्यूटर, निर्माण वर्ष, आविष्कारक

क्रम संख्याप्रारंभिक कंप्यूटर का नामनिर्माण वर्षआविष्कारक
1मार्क – I1937 – 44एकेन, IBM द्वारा
2एटेनेशॉफ बेरी कंप्यूटर
(Atanasoff Berry Computer) – ABC
1939 – 42जॉन एटनासोफ़
3इलेक्ट्रॉनिक न्यूमेरिकल इंटीग्रेटर एंड कैलकुलेटर
(Electronic Numerical Integrator and Calculator) – ENIAC
1943 – 46जॉन एम० मॉचली एवं
जे० प्रेस्पर ऐकर्ट,
पेन्सिल्वेनिया यूनिवर्सिटी, USA
4इलेक्ट्रॉनिक डिस्क्रीट वैरिएबल ऑटोमैटिक कंप्यूटर
(Electronic Descrete Variable
Automatic Computer) – EDVAC
1946 – 52जॉन वॉन न्यूमैन
5इलेक्ट्रॉनिक डिले स्टोरेज ऑटोमेटिक कैलकुलेटर
(Electronic Delay Storage Automatic Calculator) – EDSAC
1947 – 49मॉरिस विलकिज,
कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
6यूनिवर्सल ऑटोमैटिक कंप्यूटर
(Universal Autometic Computer) – UNIVAC
1951यूनिवैक संस्था
7IBM – 7011952IBM – जैरियर हैदाद
8IBM – 6501953IBM – फ्रैंक हैमिल्टन
प्रारंभिक कंप्यूटर, निर्माण वर्ष, आविष्कारक
Question and Answer

आपका स्वागत है अपने  Development Of Computer (कंप्यूटर का विकास) टेस्ट में ।अपने आप को आजमाइए :-

कुल प्रश्न :- 20, प्रत्येक प्रश्न :- 5 अंक

यदि 50 या अधिक नंबर आये तो PASS नहीं तो FAIL

Enter Full Name
Enter Email ID

1 Comment.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *